ओछे नर के पेट में रहे न मोटी बात। आध सेर के पात्र में कैसे सेर समात।।

By exam_gyan at 14 days ago • 0 collector • 2 pageviews

उदाहरण

दृष्टान्त

उल्लेख

यमक

Requires Login

Log in
Information Bar
Loading...