मंगन को देख पट देत बार-बार है। दाता अस सूम दोनों किए इक सार है।।

By exam_gyan at 17 days ago • 0 collector • 7 pageviews

श्लेष

उपमा

विरोधाभास

पुनरुक्ति

Requires Login

Log in
Information Bar
Loading...